माँ बहन की चुदाई कहानी Chudai ki kahani

हिंदी चुदाई की कहानियाँ,hindi sex stories,भाभी की चुदाई,xxx kahani behan ki chudai,बहन की चुदाई,sex story mummy ki mast chudai,माँ की चुदाई,sex kahani bhabhi ki xxx chudai,new chudai ki kahani baap beti ki xxx,desi devar bhabhi ki hot fuck story with xxx chudai ki photo,desi sex story didi ki bur chudai

पड़ोसी अंकल के साथ मेरी मम्मी की सेक्स कहानी

Desi xxx chudai की सेक्स कहानी,मेरी मम्मी की चुदाई की हैं,hindi me chudai kahani गैर मर्द से मम्मी की चुदाई,गैर मर्द से मम्मी की चूत चुदाई की कहानियाँ ।mummy chudai ki xxx kahani,

मम्मी की एक फ्रेंड है नुपूर आंटी, वो बहुत ही अमीर है और स्मार्ट भी है, वो टॉप जीन्स, स्कर्ट यह सब पहनती है, वो मम्मी की कॉलेज की फ्रेंड है. में आपको बताना तो भूल ही गया कि मेरे पापा एक सरकारी नौकरी करते है, लेकिन उनकी सैलरी बहुत ज़्यादा नहीं थी. नुपूर आंटी के पास बहुत महँगी कारे थी, उसका पति बहुत बड़ा बिज़नसमैन था. वो हमेशा मम्मी को 5 स्टार होटल में रहने की या कही बाहर टूर करने की बात बोलती थी. अब मम्मी ये सब सुनकर बहुत खुश हो जाती थी, लेकिन यह सोचकर दुखी भी होती थी कि हमारे पास उतना पैसा नहीं है और हम लोग उतना इन्जॉय नहीं कर सकते है.
एक बार आंटी ने मम्मी से कहा कि हमारा गोवा जाने का प्लान बन रहा है, तो तुम लोग भी हमारे साथ चलो. तो पहले मम्मी ने पापा से पूछा, तो पापा राज़ी नहीं हुए क्योंकि पापा को नुपूर आंटी पसंद नहीं थी. फिर मम्मी पापा से नाराज़ हो गई, तो पापा ने कहा कि तुम रोहन के साथ घूमकर आओ. तो मम्मी बहुत खुश हो गयी और नुपूर आंटी को फोन कर दिया और बोल दिया कि हम लोग जाने की पैकिंग कर लेंगे. अब में भी बहुत खुश हो गया था, क्योंकि नुपूर आंटी का पति हमारी ट्रिप स्पॉन्सर करने वाले थे. फिर हम लोगों ने अपनी पैकिंग कर ली और मम्मी नुपूर आंटी से फोन पर बातें करने लगी और हँसने लगी, लेकिन में कुछ समझा नहीं. फिर 3 दिन के बाद हम लोग रात को 9 बजे एरयपोर्ट पहुँच गये, अब आंटी ने एक बहुत ही सुंदर पारदर्शी साड़ी पहनी थी और उनके साथ उनका पति भी था.ये सेक्स कहानी आप नीऊ चुदाई की कहानी डॉट कॉम पर पड़ रहे है।अब मम्मी को देखकर वो लोग खुश हुए और नुपूर आंटी के पति ने मम्मी को गले लगाया और कहा कि नुपूर योवर फ्रेंड इज रियली ब्यूटिफुल, वी विल हैव फन इन गोवा, तो आंटी हँसने लगी और मम्मी शर्मा गयी. अब हम लोग एक घंटे के बाद गोवा पहुँच गये, जब 11 बज रहे रहे थे. अब राजीव अंकल ने एक 3 स्टार होटल में दो मस्त रूम बुक किए थे, नुपूर आंटी के पति का नाम राजीव था.अब एक रूम में में और मम्मी थे और दूसरे रूम में आंटी और अंकल थे. अब में और मम्मी देखकर सर्प्राइज़ हो गये, वो इतना अच्छा होटल था, उसमें ब्यूटिफुल रूम थे. फिर उस दिन हम लोगों ने रेस्ट लिया और फिर अगले दिन सुबह हमें जगाने अंकल आए और मम्मी को गुड मॉर्निंग बोले और हमें तैयार होने के लिए बोले, क्योंकि हमें घूमने जाना था.

अब मम्मी ने साड़ी पहनी थी और आंटी ने एक स्कर्ट और टॉप पहनी थी, वो मस्त लग रही थी. फिर आंटी ने मम्मी को कहा कि चलो आज हम लोग बहुत मस्ती करेंगे और मुझे आँख मारकर बोली कि तू भी देख लेना और मस्ती कर लेना, तो अब में भी खुश हो गया.अब पूरा दिन हम लोग बहुत घूमे और बिच पर खूब मस्ती की और हम सब रात को होटल में 7 बजे आ गये. अब आंटी, अंकल और मम्मी कुछ बातें कर रहे थे और वो सब हंस रहे थे. फिर में अपने रूम में आ गया और आधे घंटे के बाद मम्मी आकर मुझसे बोली कि हम लोग नीचे लॉन में जा रहे है तुम टी.वी देखो या जो मन करे करो, तो मैंने कहा ओके. अब मुझे समझ में आ गया था कि वो लोग कुछ इन्जॉय करेंगे.फिर में मम्मी के जाने के बाद पीछे-पीछे गया तो मैंने देखो कि मम्मी और अंकल लॉन में बैठे थे. अब मम्मी अंकल के साथ बातें कर रही थी और अपने हाथ में शराब लेकर बहुत हंस रही थी. अब मुझे होटल में मम्मी बहुत ही खुश नज़र आ रही थी. अब मम्मी और अंकल थोड़ा पीने के बाद आराम से गप्पे मार रहे थे. फिर मैंने देखा कि मम्मी को थोड़ा-थोड़ा नशा हो रहा था और उनकी साड़ी से उनका क्लीवेज साफ़ दिख रहा था और अंकल उसे घूर रहे थे. अब में उन लोगों की बातें सुनने के लिए मेरे सामने के एक पेड़ के पीछे गया और पेड़ के पीछे छुपकर उन लोगों की बातें सुनने लगा.ये सेक्स कहानी आप नीऊ चुदाई की कहानी डॉट कॉम पर पड़ रहे है।फिर अंकल ने मम्मी को बोला कि स्मिता यू आर रियली ब्यूटिफुल तुम साड़ी में बहुत मस्त लग रही हो. फिर मम्मी ने कहा कि थैंक्स राजीव जी आपने हमें घुमाया और होटल में रखा, आप बहुत ही अच्छे आदमी हो, में आज बहुत खुश हूँ थैंक यू. फिर अंकल ने मम्मी से कहा कि थोड़ा और पियो आज तो यहाँ इन्जॉय करो, यहाँ कोई प्रोब्लम नहीं है.मम्मी ने कहा कि हाँ पति के साथ पीती हूँ ना, वो आज नुपूर ने कहा इसलिए और आप बोल रहे है तो दीजिए, लेकिन प्लीज़ ज़्यादा नहीं, मुझे बहुत नशा हो जाता है में खुद को संभाल नहीं पाती हूँ. फिर में सोचने लगा कि नुपूर आंटी कहाँ गयी? फिर थोड़ा और पीने के बाद मम्मी बिल्कुल टल्ली हो गयी और अंकल मम्मी के पास बैठ गये और ऐसे ही उनके हाथ पर छूने लगे, अब मम्मी को कुछ समझ में नहीं आ रहा था.

फिर अचानक से नुपूर आंटी आई और बोली कि सॉरी गाइस थोड़ा लेट हो गया, हाउ आर यू माई स्मिता डार्लिंग, मेरे पति ने कुछ बदमाशी तो नहीं की ना, तो मम्मी हँसने लगी. फिर अंकल बोले कि चलो अब रूम में चलते है और नुपूर आंटी को आँख मारने लगे. तब मुझे कुछ समझ में आया कि आज ज़रूर कुछ होने वाला है, लेकिन अब में भी उत्तेजित था. अब मम्मी चल भी नहीं पा रही थी, तो नुपूर आंटी और अंकल मम्मी को पकड़कर रूम में ले गये और में अपने रूम में जाकर सोने का नाटक करने लगा.फिर नुपूर आंटी मेरे रूम आई और मुझे सोया देखकर वो वहाँ से चली गयी. फिर में लॉन के पास जाकर एक कांच कि खिड़की के पास जाकर उनके रूम में देखने लगा तो में हैरान हो गया. अब मम्मी के सीने पर कपड़ा नहीं था और अब आंटी और अंकल उन्हें देखकर हंस रहे थे, अब मम्मी एकदम नशे में थी.फिर अंकल मम्मी के बगल में जाकर उन्हें पकड़कर बैठ गये, तो मम्मी बोली कि राजीव जी आप बहुत अच्छे हो थैंक्स फॉर ऑल दिस. तो नुपूर आंटी बोली कि स्मिता बेबी तुम चिंता मत करो यह तो कुछ भी नहीं है, अब तो यह तुम्हें और खुश करेंगे जान, बस देखो मेरा पति तुम्हें कैसे संतुष्ट करता है? उन्हें सब पता है कि तुम्हारे पति के छोटे लंड से तुम्हारा मन नहीं भरता है.ये सेक्स कहानी आप नीऊ चुदाई की कहानी डॉट कॉम पर पड़ रहे है।ये बोलकर वो दोनों हँसने लगे और मम्मी शर्मा गयी और बोली कि ओहह तुम राजीव के सामने यह सब क्यों बोल रही हो? फिर राजीव अंकल ने मम्मी से कहा कि जान मुझे सब पता है कि तुम्हारे नीचे कितना दर्द है और तुम्हारे पति का लंड तुम्हें संतुष्ट नहीं कर पाता है, में तुम्हारा सब दुख दूर कर दूँगा मेरी जान. फिर मम्मी बोली कि प्लीज़ ऐसा मत कहो राजीव जी में शादीशुदा हूँ मुझे पता नहीं था कि नुपूर यह सब आपको बोल देगी. फिर अंकल ज़ोर से मम्मी के होंठ पकड़कर चूसने लगे, अब मम्मी छूटने की कोशिश करने लगी थी, लेकिन थोड़ी ही देर में नुपूर आंटी ने मम्मी की साड़ी को पकड़कर आराम से उतार दी.

अब मम्मी को भी सेक्स चढ़ने लगा था, लेकिन फिर भी मम्मी हह्ह्ह्ह उम्म प्लीज एम्म करने लगी थी. फिर नुपूर आंटी हंसी और बोली कि जान मेरा पति आज तुम्हें जन्नत में भेजेगा और में भी तुम्हें प्यार करूँगी माई सेक्सी डार्लिंग बोलकर उनके ब्लाउज से मम्मी के बूब्स दबाने लगी और मम्मी को अंकल से हटाकर मम्मी को चूमने लगी. अब मम्मी बिल्कुल नशे में चली गयी थी और अब उन्हें बहुत सेक्स चढ़ गया था.फिर अंकल ने मम्मी के ब्लाउज का बटन खोल दिया और मम्मी सिर्फ ब्रा में आ गयी. अब मम्मी ब्रा और पेटिकोट में थी, तो अंकल मम्मी के बूब्स दबाने लगे और धीरे से मम्मी के पेटीकोट का नाड़ा पकड़कर खींच दिया. फिर नुपूर आंटी ने मम्मी को बेड पर फेंक दिया और फिर अंकल ने उनकी ब्रा उतार दी और उनका पेटिकोट भी नीचे खींच लिया. अब मम्मी सिर्फ पेंटी में थी और नशे में चूर होकर आंटी की टॉप उतारने लगी.ये सेक्स कहानी आप नीऊ चुदाई की कहानी डॉट कॉम पर पड़ रहे है।फिर आंटी ने मम्मी के गाल पर एक थप्पड़ मारा और बोली कि रंडी साली अपने कपड़े उतारकर रख हमारे कपड़ो पर हाथ मत लगा, में तुझे यहाँ रंडी बनाने के लिए लाई हूँ और वो मम्मी की पेंटी को खींचकर उन्हें पूरा नंगा कर देती है तो मम्मी चौंक जाती है और अंकल मम्मी के पास आकर अपनी पेंट की चैन खोलकर अपना लंड बाहर निकालकर मम्मी के मुँह में दे देते है. इसके बाद जो होता है मुझे उसकी उम्मीद बिल्कुल भी नहीं थी. फिर नुपूर आंटी अपने बैग से एक कैमरा निकालकर अंकल का चेहरा छोड़कर मम्मी का नंगा वीडियो बनाने लगती है.फिर मम्मी नशे की वजह से अंकल का लंड चूसने लगती है, अब मम्मी बिल्कुल नशे में थी और अंकल का लंड देखकर जो बोलती है उसे सुनकर तो में भी शॉक हो गया था. अब मम्मी बोलती है कि राजीव जी इतना बड़ा लंड मैंने कभी नहीं देखा, आप मुझे जैसे मन करे चोद सकते हो, मुझे आपकी रंडी बना दो उम्म्म्म. फिर नुपूर आंटी हँसने लगती है और बोलती है कि देख साली कुत्तिया अब में तुझे सबकी रंडी बनाउंगी हाहहाहा. फिर मम्मी को कुतिया बनाकर वो लोग उनकी गांड पर थप्पड़ मारने लगे और मम्मी आहह ह करने लगी और बोली कि जो मन करे करो, आज में आप दोनों की रंडी हूँ उफ़. फिर नुपूर आंटी बोलती है कि तू अब हमें मेम और सर बोल, अब तू हमारी रंडी है समझी साली. उन्होंने मम्मी के शराब में ज़रूर वियाग्रा की गोली मिलाई थी.ये सेक्स कहानी आप नीऊ चुदाई की कहानी डॉट कॉम पर पड़ रहे है।अब मम्मी बिल्कुल रंडी बन चुकी थी और कैमरा देखकर भी अंकल का लंड चूस रही थी और जो मन में आ रहा था वो बोल रही थी. फिर नुपूर आंटी ने मम्मी से अपना पैर भी चटवाया और अब अंकल मम्मी के गालों पर अपना पैर दे रहे थे और मम्मी कि गांड पर लात भी मार रहे थे, लेकिन अब मुझे भी बहुत मज़ा आ रहा था और वो हह्ह्ह्ह उम यस्स्स सर मेम में योवर बिच यूज़ मी बोल रही थी.अब में देखकर बिल्कुल हैरान था कि यह मेरी मम्मी थी. फिर अंकल मेरी मम्मी को बेड पर पटक कर चोदने लगे और फिर मम्मी को 10 मिनट तक चोदकर नंगी करके जमीन पर फेंक दिया और फिर वो दोनों हँसते-हँसते सो गये. अब अगले दिन सुबह में बहुत दुखी था, फिर मम्मी सुबह 10 बजे मेरे रूम में आई और तब मम्मी को देखकर में पहचान ही नहीं पाया, अब वो बिल्कुल सेक्स बॉम्ब बन गयी थी.कैसी लगी मम्मी की सेक्स कहानी , अच्छा लगी तो शेयर करना , अगर कोई मेरी मम्मी की चुदाई करना चाहते हैं तो उसे अब ऐड करो Facebook.com/Chudai ki pyasi mummy

The Author

कामुकता देसी चुदाई की कहानियाँ

अन्तर्वासना की सेक्स कहानी, देसी कामुकता कहानी, भाई बहन की चुदाई hindi story, माँ बेटे की सेक्स कहानी, बाप बेटी की सेक्स desi xxx kahani, brother sister sex indian xxx stories, chudai story, chudai kahani, sex kahan, hindi xxx story, chudai kahaniya, desi xxx kamukta story, हॉट कामसूत्र कहानी,
माँ बहन की चुदाई कहानी Chudai ki kahani © 2018 Frontier Theme