loading...
loading...
Home » , , , , , , » देवर भाभी की चुदाई की मस्तराम कहानियाँ

देवर भाभी की चुदाई की मस्तराम कहानियाँ

मस्तराम कहानियाँ,Devar bhabhi ki mastram sex kahani,भाभी की चुदाई Xxx मस्तराम की कहानी,भाभी की कामवासना Indian Sex Xxx Hindi Kahani,देवर भाभी की चुदाई,Kamukta Sex Kahani,रात भर भाभी की चुदाई Mastaram xxx kahani,

आज मैं बाटूंगा कैसे मेरी भाभी की बूब्स चूसा, कैसे मेरी भाभी की चूत चाटा, भाभी की प्यासी चूत की चुदाई की .भाभी का नाम सोनी है. आप भाभी की कामुक फिगर के बारे में सोचकर ही लंड हाथ में ले लेंगे मैं आपको उनका फिगर बतता हू. वो नही ज़्यादा पतली हैं और ना ही ज़्यादा मोटी. पर एक चीज़ उनकी ज़रूर मोटी है. भाभी की गांड वो जब चलती है तो उनकी गांड ऐसे मटकती है की बस खा जाओ. उनका फिगर 34 26 26 है. गोरी और होठ गुलाबी है देखते ही लगता है की चूसते ही रहे.
devar bhabhi ki chudai xxx mastram kahani
देवर भाभी की चुदाई की मस्तराम कहानियाँ
मेरी भाभी की शादी को बस पाँच साल हुए हैं. जब वो हमारे घर आई तो मेरे मन में उनके लिए कोई फीलिंग्स नही थी. कुछ महीने तक उनकी मोटी गांड को देख के मैने सोच लिया की इसको तो चोद के ही रहूँगा. हम आपस में बहूत बाते करते थे. वो मुझसे पूछा करती थी की मेरी कोई लड़की मित्र है क्या? मैं बोलता था की आप जैसी कोई मिली ही नही. मैं रोज़ उनके नाम की मूठ मारा करता था. मुझे लगता था की कोई मुझे बाहर से हस्थमैथुन करते हुए देख रही है कीहोल से और भाभी की चोदने के बाद पता चला की वो मुझे रोज़ देखा करती थी. एक दिन भैया बाहर गये हुए थे तो भाभी ने मुझे मार्केट चलने को कहा.तो मैने उन्हे अपनी मोटर साइकिल पे बैठाया और हम चल दिए.  रास्ते में मैं जान के ब्रेक मरता था. ताकि भाभी की चूचियाँ मेरे पीठ से चिपकता रहे और शायद ये भाभी को पता था. हम मार्केट में जनरल स्टोर पे गये तो भाभी वहाँ से ब्रा पनटी खरीद रही थी. ये सब देख कर मेरा लॅंड सातवे आसमान पे पहुंच गया. वापस आते हुए बारिश हो गयी और हम दोनो भीग गये. भाभी की सारे पूरी भीग गयी और भाभी की नाभि और ब्रा का पोजीशन साफ़ साफ़ झलक रहे थे. ये सेक्स कहानी आप नीऊ चुदाई की कहानी डॉट कॉम पर पड़ रहे है। भाभी को ठंड लगने लगी तो मैने कहा की आप मुझसे ज़ोर से पकड़ लो. उनकी बॉडी फील करके मुझे बहूत जोश चढ़ रहा था. हम घर पहुंचे तो मैं उनके साथ रूम में चला गया.बातरूम बिज़ी था तो भाभी ने मुझे आँखें बंद करने के लिए कहा जिससे वो चेंज कर सके.में तो हरामी था मैं चुपके से भाभी को देख रा था. भाभी को पूरा नंगा देख कर मेरा लौड़ा खड़ा हो गया. ये देख कर भाभी स्माइल करने लगी और कहा नॉटी भाभी को देख रहे हो. जब मैने इनकार किया तो उन्होने बोला की तुम्हारा टॉय बता रा है मुझे की तुम मुझे देख रहेथे, चलो कोई बात नही, भाभी देवर मेी तो ये सब होता रहता है. उस रात मैने उनके नाम की मूठ मार और माल निचे गिरा दिया और सो गया.कुछ दिन बाद जब में कॉलेज से आया तो देखा की भाभी मेरे रूम में लॅपटॉप पर पॉर्न वीडियोस देख रही हैं साथ ही साथ अपनी चूत भी सहला रही हैं. ये देख कर मैं जोश में गया. मुझे देखकर भाभी बोली ये कैसे वीडियोस हैं तुम्हारे लॅपटॉप में??

किरायेदार भाभी की बार बार चुदाई,Bhabhi ki chudai,chudai kahani,sex kahani,real chudai kahani

भाभी : क्या डाल रखा है लॅपटॉप में??(स्माइल करते हुए)
मैं : कुछ नही भाभी बस दोस्त ने दे दिया था
भाभी : मैं आज कल के बच्चो को जानती हू, शादी तक रुका नही जाता तुमसे.
मैं : नही भाभी कंट्रोल नही होता.
भाभी : ये सब छोड़ो और पढ़ाई में मन लगाओ
ये कहके भाभी चली गयी. उसी दिन भैया मेरे पास आए (मैने सोचा की भाभी ने उन्हे सब बता दिया है.) भैया ने मुझे कहा की आज उन्हे अर्जेंट्ली मीटिंग में जाना है मुंबई तो मैं रात को भाभी के साथ सो को क्यूकी उन्हे रात को दर लगता है.मैने कहा ओक. मेरे मॅन में तो लड्डू फुट र्हे थे. मैने सोच लिया की आज सेक्स का मज़ा लेकर ही रहूँगा. और जो रोज रोज मूठ मार के निचे गिरता था आज भाभी के चूत में ही गिराऊंगा.फिर रात को में भाभी के रूम में गया तो भाभी ने लो कट नाइट सूट पहना हुआ था जिससे उनका बहूत ज़्यादा क्लीवेज दिख रहा था. हम टीवी देखने लगे उसमे एक चॅनेल पर ब ग्रेड का मूवी आ रही थी तो मैने वही लगा दी. वो मूव के बीच में रूम में गर्मी बाद गयी थी. भाभी अब गरम हो रही थी. वो अपनी चूत पे हाथ फेर रही थी. मैने उनका हाथ हटाया और चूत पे हाथ फेरने लगा. वो मोन करने लगी म्‍म्म्मममम आअहह. फिर हमने जोरदार किस की करीब 4-5 मिनिट तक. मैने उसके बूब कपड़ो पे से हटाए.ये सेक्स कहानी आप नीऊ चुदाई की कहानी डॉट कॉम पर पड़ रहे है।भाभी ने मेरे मोटे लंड को पकड़ लिया और सहलाने लगी. मैने उसकी नाइटी उतरी तो देखा की उसने वही ब्रा पहनी थी जो उसने मेरे साथ मार्केट में खरीदी थी. फिर उसने मेरी टी-शर्ट और बरमुंडा उतारी.अब हम दो सिर्फ़ अंडरगार्मेंट्स में थे. मैने अपने मूह से उसकी पेंटी उतारी तो देखा की चूत बिल्कुल चिकनी और साफ़ थी एक भी बाल नही था. फिर उसने मेरा अंडरवेर उतरा. मेरा बड़ा सा लंड देख के वो चौक गयी और बोली की इतना बड़ा तो तुम्हारे भैया का भी नही है आज तो तेरा लंड मेरा चूत का सत्यानाश कर देगा.फिर मैने भाभी की बूब्स को दबाया और चूसा… मुझे दूध चाहिए था लेकिन उन्होने कहा की दूध बच्चा होने पर मुझे ज़रूर पिलाएँगी..हम 69 पोज़िशन में आ गये भाभी ने मेरा लंड मूह मे लिया हुआ था औ मैं भाभी की चूत चाट रहा था जोकि बहूत ही टेस्टी थी! फिर उन्होने कहा की अब वेट नही होता मेरी लंड की प्यास भुजा दो ना… मैने लंड भाभी की चूत में डाला.. वो सिसकारियाँ लेने लगी… आहह म्‍म्म्मममममम

मोटे लंड से भाभी की चिकनी चूत की चुदाई,मोटी भाभी की चुदाई,moti bhabhi ki phula choot ki chudai

मैने एक ही झटके में लंड भाभी की चूत में डाल दिया…. और उन्होने मुझे वियाग्रा खिलाया और हमने 2 घंटे तक चोदा अलग अलग पोज़िशन में. उनके मना करने के बाद भी मैने अपना माल भाभी की चूत में झाड़ दिया…कुछ देर बाद मेरा लंड फिर जोश में आ गया. उन्होने मुझे उनकी गांद मारने के लिए कहा क्यूकी भैया को गांड पसंद नही था तो उनकी गांद किसी ने नही मारी थी… उन्होने कहा की अमर आज से ये गांड सिर्फ़ और सिर्फ़ तुम्हारी है, उद्घाटन कर ही दो…उनकी गांड बहूत ही ज़्यादा टाइट थी… मैने उसपे तोड़ा सा तेल लगाया और अपना लंड रख कर धक्का दिया.. मेरा लंड तोड़ा सा अंदर चला गया… भाभी सीकरियाँ भरे लगी…. आआआआआअ… म्‍म्म्मममममम एम्म एमेम म अहहहहहहहाहा हाहहहा अहहहहहहहा आहाहह म म म म म म एमेम एमेम म म एमेम म म एमेम.. अहहहहः अहहा अहहः अहहः अहहः अहहः अहहा….ये सेक्स कहानी आप नीऊ चुदाई की कहानी डॉट कॉम पर पड़ रहे है।मैने दूसरे झटके में ही अपना पूरा लंड भाभी की गांडमें डाल दिया और भाभी ज़ोर से चीखा पड़ी… अब वो डॉगी स्टाइल में थी… मैं उनकी गांड ज़ोर से मार रहा था… वो कह रही थी की अमर अया बहूत मज़ा आ रहा है.. तुम्हारे लंड का तो मुझे कबसे इंतेज़ार है.. मैं उनके बूब्स भी दबा रहा था.मैने उन्हे बताया की मैं उनके नाम की रोज़ मूठ मारता था.. तो उन्होने बताया की उन्हे भी मेरे लॅंड की बहूत चाहत थी..मैं झड़ने वाला था.. मैं जल्दी से अपना लॅंड निकाला और भाभी घुमके मेरे लॅंड की तरफ मूह कर लिया.. मैं उनके मूह में झाड़ गया… मेरा इतना माल झाड़ा जितना ज़िंदगी में कभी नही झड़ा था. फिर हम एक साथ बाथरूम में नहाने चले गये.मैं उनसे चिपक चिपक के नहा रहा था. उनका हर एक हिस्सा मैने अपनी जीभ से चाटा शवर में. हम दोनो फिर बाथ टब में एक साथ लेटे रहे फिर हमनेबाहर आके चेंज किया. और हमने बहूत लंबी किस की. फिर मैं चला गया. कैसी लगी हम डॉनो देवर और भाभी की चुदाई कहानियाँ , रिप्लाइ जररूर करना , अगर कोई मेरी भाभी की चूत की चुदाई करना चाहते हैं तो उसे अब जोड़ना Devar ka lund ki pyasi bhabhi

1 comments:

loading...
loading...

चुदाई कहानी,Sex kahaniya,chudai kahani,mom ki chudai,didi ki chudai

Delicious Digg Facebook Favorites More Stumbleupon Twitter