loading...
loading...

सेक्सी कामवाली बाई की चुदाई कहानी

Chudai kahani - चुदाई की कहानियाँ,कामवाली बाई की चुदाई Xxx हिंदी कहानी,Kamwali bai ki chudai,सेक्स कहानी,Kamwali ko choda xxx hindi story,Garam garam chudai kahani,नौकरानी दीपा की चूत में अपना लंड डाला, Mastaram sex kahani, Desi kahani,Hindi xxx kamuk kahani,

शादी के बाद ही घर की साफ-सफाई के लिए मेरी बीवी ने एक नौकरानी रख ली थी। देखने में दुबली पतली थी उसकी उम्र लगभग 40 वर्ष होगी। जब कभी बीमार होती थी तो वो अपनी लड़की रीना को भेज देती थी। रीना उम्र में 18-19 साल की होगी पर उसकी गदराई हुई जवानी गजब की थी। वो अक्सर हलके रंग के पुराने सूती कपड़े पहनकर आती थी जिसमें उसके ब्रा और पैंटी दिखती रहती थी। ज्यादातर कामवालियां झाड़ू-पोछा करते समय अपनी चुनरी कमर और गले में लपेटकर गाँठ बाँध लेती हैं, जिससे झुकने पर कुछ दिखे नहीं। मगर वो इतनी लापरवाह थी कि चुनरी भी नहीं डालती थी, पता नहीं कहाँ खोई रहती थी।
Kamwali ki chudai xxx hindi sex kahani
सेक्सी कामवाली बाई की चुदाई कहानी
एक दिन सुबह सुबह मेरी नींद खुली तो मुझे लगा कि मेरे सिर पर कोई मुलायम सी चीज छू रही है। मझे लगा मेरी बीवी होगी तो मैंने रोमांटिक मूड में उसकी कमर पकड़ कर बेड पर खींच लिया और अपने ऊपर लिटा लिया। जब उसको कस के चिपकाया तो थोड़ा अजीब सा लगा, आँख खोल के देखा तो मेरी नींद भाग गयी, वो तो नौकरानी की लड़की रीना थी।मैंने हलकी आवाज में पूछा, 'तुम यहाँ क्या कर रही हो?'वो बोली, 'साब... मैं तो बेड की सफाई कर रही थी। तुमने खींच लिया।'मैंने कहा, 'जल्दी नीचे उतरो... बीवी ने देख लिया तो आफत आ जाएगी।'तो वो मेरे ऊपर लेटे लेटे ही बेबाकी से बोली, 'उतरती हूँ साब... डरो नहीं... भाभी बाथरूम में हैं। थोड़ी देर लेट लेने दो... मजा आ रहा है।'वो मेरे ऊपर लेटी हुयी थी उसके बूब्स मेरे सीने से दब रहे थे। उसके बड़े गले के सूट में उसकी काली ब्रा और चिकने बूब्स मुझे साफ़ दिख रहे थे। मेरा देखते ही लंड खड़ा होने लगा।ये सेक्स कहानी आप नीऊ चुदाई की कहानी डॉट कॉम पर पड़ रहे है।मेरे लंड की चुभन महसूस होते ही वो मेरे ऊपर से उतर गयी और मेरे तम्बू बने अंडरवियर की ओर देखते हुए बोली, 'साब... आपका हथियार तो तैयार हो गया।'उसके मुँह से ऐसी गरमा-गर्म बातें सुनकर पहले मुझे अजीब सा लगा। फिर सोचा कि जब चूत खुद ही चुदने को तैयार है तो मैं अपने लंड को क्यूँ रोकूँ?मैंने कहा, 'तूने ही इसमें आग लगा दी रीना। अब तेरी भाभी की आफत आएगी।'इतना सुनते ही वो अपनी चूत पर हाथ फेरते हुए बोली, 'किसी दिन मेरी भी आफत कर दो... साब।'उसकी हालत देख मैंने कहा, 'तू तो चुदने को तैयार लग रही है।'अब उसने मेरे अंडरवियर में हाथ डाल दिया और मेरे लंड को सहलाते हुए बोली, 'साब... जितना चाहे चोद लो मुझे... मेरा तो चुदने का बहुत मन होता है... पर मेरी माँ मेरी शादी नहीं कर रही है।'

कामवाली बाई की चुदाई, sacchi chudai kahani, sexy kahani,kamwali ki chudai,

बाथरूम से पानी गिरने की आवाज आ रही थी मेरी बीवी अभी भी नहा रही थी। अब रीना ने मेरा अंडरवियर नीचे खिसका कर मेरा 8 इंच का लंड बाहर निकाल लिया और प्यार से चूसने लगी। वो मेरा लंड छोड़ ही नहीं रही थी।
मैं बोला, 'अब रहने दे... बीवी आ जाएगी।' लेकिन उस पर इस समय चुदास सवार हो रही थी। उसने लापरवाही से जवाब दिया, 'भाभी नहा लेगी तो मैं खुद ही छोड़ दूंगी... कितना बड़ा और चिकना लंड है साब तुम्हारा... इससे एक बार चोद दो न मुझे।'मैंने हाथ जोड़ते हुए जवाब दिया, 'ठीक है...ठीक है... लेकिन अभी जा यहाँ से... जब मौका मिलेगा तो तेरी अच्छे से चुदाई करूँगा।'बाथरूम में पानी गिरने की आवाज बंद होने पर उसने मेरा लंड छोड़ दिया और कपड़े से इधर-उधर साफ-सफाई करने लगी।ये सेक्स कहानी आप नीऊ चुदाई की कहानी डॉट कॉम पर पड़ रहे है।मैंने भी जल्दी से अंडरवियर चढ़ा कर चादर ओढ़ ली और सोने का नाटक करने लगा। उस दिन वो झाड़ू लगाते समय झुक-झुक कर अपने बूब्स दिखाती रही। दो घंटे बाद काम निपटा कर रीना चली गयी। अब अगले दो दिन वो नहीं दिखी, काम करने उसकी माँ आई। मैं मन ही मन रीना को चोदने का प्लान बनाता रहा।उसके अगले दिन जब मेरी आँख खुली तो मुझे लगा कि कोई मेरा लंड चूस रहा है, आज फिर मेरी नींद भाग गयी, रीना मेरे बगल में नंगी बैठी थी और मेरा लंड चूस रही थी। उसके बड़े बड़े सख्त बूब्स एकदम तने हुए थे, मोटी मोटी गदराई जांघों के बीच बालों से भरी चूत पानी छोड़ रही थी। उसने कपड़े उतार कर बेड पर ही डाल दिए थे।मैं डर गया कि अगर बीवी ने देख लिया तो मेरा क्या होगा, रीना मेरा चेहरा भाँपते हुए बोली, 'साब... भाभी नहाने गयी है... 20 मिनट बाद आएगी... तब तक मेरा काम कर दो!'
सुनते ही मैंने उसे बेड पर लिटा लिया, 'ठीक है... आज तेरी चूत की प्यास बुझा ही देता हूँ।'मेरे पास समय कम था और मुझे इसका पूरा फायदा उठाना था। इसलिए मैंने उसकी टाँगे फैला कर अपना लंड उसकी चूत पर टिका दिया।फिर उसके मुँह पर हाथ रखकर पूरी ताकत से झटका मारा, मेरा 8 इंच का लंड पूरा उसकी गीली चूत में समा गया। वो दर्द से कमर पटकने लगी और उसके मुँह से घुटी घुटी चीख निकली। एक मिनट ऐसे सी रुकने के बाद, मैं धीरे धीरे अपना लंड अन्दर बाहर करने लगा।

कामवाली को पैसे देकर चूत चुदाई,Naukrani ki chudai, Chudai Kahani, Chudai ki dastan

थोड़ी देर बाद जब रीना को मजा आने लगा तो मैंने स्पीड बढ़ा दी। अब मैं खींच-खींच के झटके मारने लगा और वो भी पूरा लंड गपागप चूत में ले रही थी।8-10 मिनट चुदने के बाद उसने मेरा लंड चूत से निकाल दिया और कराहते हुए बोली, 'अब घोड़ी बना के करो... साब... पीछे से...।' इस थोड़े से समय में रीना हर तरह से चुद लेना चाहती थी।मैंने अपना लंड हाथ में लेकर हिलाते हुए कहा, 'ठीक है... बन जा घोड़ी जल्दी से।'अब वो जल्दी से घोड़ी के स्टाइल में कमर ऊँची कर के लेट गयी। उसकी चूत भैंस की तरह पीछे उभर आई। मैंने पीछे से उसकी चूत फैलाकर लंड डाल दिया और कमर पकड़ कर सटासट चुदाई करने लगा। वो भी कमर आगे-पीछे करके हर झटके का जवाब दे रही थी। पाँच मिनट चुदाई के बाद उसकी चूत जवाब दे गई और उसने टाँगे भींच लीं। मैं अभी झड़ा नहीं था मेरा लंड अभी भी फुंफार रहा था। अब मैं कमर पकड़ के उसकी कसी हुई चूत में बेरहमी से लंड पेलने लगा वो सिसकारियाँ भर रही थी। दो मिनट बाद मैं भी झड़ गया और उसकी कुआँरी चूत वीर्य से भर दी। रीना बिस्तर पर साइड में ही लुढ़क गयी। जबरदस्त चुदाई से वो बेहाल हो चुकी थी।मेरी बीवी अभी भी नहा रही थी बाथरूम से पानी गिरने की आवाज आ रही थी।ये सेक्स कहानी आप नीऊ चुदाई की कहानी डॉट कॉम पर पड़ रहे है।मैंने रीना से कहा कि कपड़े पहन ले नहीं तो मेरी बीवी आ जाएगी। वो थकी सी शराबी की तरह उठी और कपड़े पहनने लगी। पहनते-पहनते मुझसे बोली, 'साब... तुमने तो मेरी चूत के धागे खोल दिए...। तुम्हारे लम्बे और मोटे लंड ने मुझे एक ही चुदाई में औरत बना दिया है। आज मेरा मन नहीं भरा है... मैं कल फिर आऊँगी।'मैंने कहा, 'तू मेरा घर तुड़वाएगी... और कुछ नहीं है।'बाथरूम से पानी गिरने की आवाज बंद हुयी तो रीना फटाफट झाड़ू उठा कर लंगड़ाते हुए सफाई में लग गयी। मैं भी अंडरवियर पहन के सोने का नाटक करने लगा। मेरी बीवी बाथरूम से निकल कर आई तो उसने रीना को लंगड़ाते देख पूछ लिया, 'क्या हुआ रीना... पैर में कुछ लग गया क्या?' रीना बोली, 'हाँ भाभी... चोट लग गयी है।' उस दिन वो जैसे-तैसे काम निपटा कर चली गयी।अगले दिन फिर वो आ गयी। रोज की तरह मेरी बीवी नहाने गयी हुयी थी, उस दिन वो साड़ी पहन के आई थी... आते ही मेरा लंड चूसकर बड़ा किया और साड़ी उठा कर मेरे लंड पर बैठ गई... अन्दर कुछ पहना नहीं था। 15 मिनट तक मेरे लंड पर उछल-उछल कर चुदने के बाद अपना काम करके निकल गयी।

सरसों का तेल लगा के कामवाली की चुदाई, Mast chudai, Hindi xxx chudai kahani, Sacchi kahani

इसके बाद रोज रीना ही काम पर आने लगी, उसे मेरे विकराल लंड का चस्का लग चुका था। मुझे भी उसकी गुदाज-रसीली चूत में अलग ही मजा आता था, हर सुबह उसकी कुवाँरी चूत का रस लेने के बाद ही मेरे दिन की शुरुआत होती थी।ये सेक्स कहानी आप नीऊ चुदाई की कहानी डॉट कॉम पर पड़ रहे है।एक महीने तक रोज चुदने की वजह से वो प्रेग्नेंट हो गयी। मैंने उसे दवाई लाकर दी जिससे उसका महीना फिर से शुरू हुआ। उसके बाद मैं हर दो-तीन दिन के बाद उसकी चूत में गोली डाल देता था, जिससे गर्भ न ठहरे। ऐसा लगभग 6 महीने तक चला फिर उसकी शादी हो गयी और उसने काम छोड़ दिया। उसके बाद मुझे कोई ऐसी कामवाली नहीं मिली।कैसी लगी मेरी कामवाली बाई की चुदाई कहानी , अच्छा लगी तो जरूर रेट करें और शेयर भी करे ,अगर कोई मेरी कामवाली की चुदाई करना चाहते हैं तो उसे ऐड करो Ras bhari dei kamsin chut

1 comments:

loading...
loading...

चुदाई कहानी,Sex kahaniya,chudai kahani,mom ki chudai,didi ki chudai

Delicious Digg Facebook Favorites More Stumbleupon Twitter