loading...
loading...

दोस्त की सेक्सी बहन ने मेरा लंड लिया

एक दिन में घर पर बैठा बोर हो रहा था तो मैंने सोचा कि चलो अहमद (मेरे दोस्त का नाम) के घर चलते है। फिर जब में उसके घर गया, तो उसके चौकीदार ने बताया कि साहब अभी बाहर गये है और आने वाले है। फिर यह सुनकर में वापस से अपनी कार में आकर बैठ गया। अब अभी में वहाँ पर बैठा ही था कि अहमद की छोटी बहन ड्राइवर के साथ कॉलेज से वापस आ गई और मुझे देखकर बोली कि तुम यहाँ बाहर क्या कर रहे हो? प्लीज मेरे साथ अंदर चलो, तो में उसके साथ अंदर आ गया। अब वो मुझे रूम में बैठाकर अपने कपड़े चेंज करने चली गई थी। फिर उसकी नौकरानी मेरे लिए पेप्सी लेकर आई, तो मेरे पूछने पर उसने बताया कि घर पर कोई नहीं है, तो मैंने उससे कहा कि वो भी चली जाए। फिर 10 मिनट के बाद उजमा (अहमद की बहन का नाम) वापस आ गई, उसने बहुत ही टाईट ड्रेस पहनी थी। अब मुझे उसके बूब्स साफ-साफ दिख रहे थे, फिर वो मेरे पास 20 मिनट के लिए बैठी और फिर चली गई।

बहन ने मेरा लंड लिया
दोस्त की सेक्सी बहन ने मेरा लंड लिया

फिर जब वो वापस आई तो उसके हाथ में जूस के 2 गिलास थे, तो एक उसने खुद ने ले लिया और एक मुझे दे दिया। फिर हम दोनों जूस पीने लगे और जब मैंने जूस ख़त्म कर लिया तो मेरा सिर भारी हो गया और मुझे नींद आने लगी। उसी वक्त उजमा मेरे पास आई और मेरे साथ बैठ गई और कहने लगी आई लव यू और यह कहने के बाद वो मुझसे लिपट गई और थोड़ी देर तक तो मुझे कुछ पता नहीं चला और फिर वो मुझे अपने बेड पर लेकर आ गई। फिर जब मुझे पूरी तरह से होश आया तो मैंने उजमा को अपने सामने पाया, अब वो मेरे सामने सिर्फ ब्रा और पेंटी में थी। अब में उसको ऐसे देखकर चौंक गया था। फिर उसने कहा कि जो करना चाहो कर लो और यह कहकर वो बेड पर आ गई और फिर उसने मुझे चूमना शुरू कर दिया। ये चुदाई आप नीऊ चुदाई की कहानी डॉट कॉम पर पड़ रहे है।फिर मैंने कहा कि उजमा यह ठीक नहीं है, तो उसने कहा कि में तुमसे प्यार करती हूँ और यह कहकर उसने अपने लिप्स मेरे लिप्स पर रख दिए, वो सच में बहुत हॉट है। अब वो मेरी जीभ को अपने मुँह में अंदर डालकर जोर-जोर से चूसने लगी थी। अब में बहुत गर्म हो गया था, अब मेरा लंड लोहे की तरह होता जा रहा था। फिर मैंने धीरे-धीरे अपने हाथ उसके बूब्स पर रख दिए, तो उसके मुँह से आह की आवाज निकली, तो मैंने उसके बूब्स को दबाना शुरू कर दिया और उसने मेरी टी-शर्ट उतार दी। अब मुझसे भी बर्दाश्त नहीं हो रहा था तो मैंने उसकी ब्रा को निकाल दिया। अब उसके बूब्स पूरी तरह तने हुए मेरे सामने थे और में उनको अपने मुँह में लेकर चूस रहा था। अब उजमा के मुँह से आहहह ऊऊओह हहू की आवाजे निकल रही थी। फिर 5 मिनट तक तो में उसके बूब्स को चूसता रहा और इसके बाद मैंने उसकी पेंटी भी उतार दी। अब वो पूरी तरह से नंगी मेरे सामने खड़ी थी, उसकी चिकनी चूत अभी तक वर्जिन थी। दोस्तों ये कहानी आप चोदन डॉट कॉम पर पड़ रहे है।

फिर मैंने उसकी चूत पर अपना एक हाथ लगाया, तो उसने अपनी आँखे बंद कर ली और मैंने उसकी चूत को रगड़ना शुरू कर दिया, तो उसने ज़ोर से मेरा सिर पकड़ा और अपने बूब्स पर रख दिया। फिर इसके बाद उसने अपना एक हाथ मेरे लंड पर रखा और मेरी पेंट के ऊपर से ही रगड़ना शुरू कर दिया और फिर उसने मेरी पेंट उतार दी और अपने मुँह से मेरा अंडरवियर भी उतार दिया। अब मेरा लंड बिल्कुल तना हुआ था, अब मेरा खड़ा लंड देखकर वो हैरान रह गई थी और उसका मुँह खुला का खुला रह गया था। अब जब वो अपना मुँह खोलकर मेरे लंड को देख रही थी, तो तभी मैंने अपना लंड उसके मुँह में डाल दिया। तो उसने धीरे-धीरे मेरा लंड चूसना शुरू कर दिया, तो मैंने अपना लंड उसके मुँह में अंदर बाहर करना शुरू कर दिया। ये चुदाई आप नीऊ चुदाई की कहानी डॉट कॉम पर पड़ रहे है।फिर उसने कहा कि अब बस और नहीं जाता, तो मैंने उसका सिर पकड़कर एक ज़ोर के झटके से अपना पूरा लंड उसके मुँह में डाल दिया और फिर 10 मिनट के बाद जब में ख़त्म होने लगा तो उसने मेरे लंड को बाहर निकालना चाहा, लेकिन मैंने उसका सिर पकड़कर फिर से मेरा पूरा लंड उसके अंदर कर दिया और मेरा सारा वीर्य उसके मुँह में चला गया, लेकिन मैंने अपना लंड उसके मुँह में ही रखा और उससे अपना लंड चुसवाता रहा। फिर कुछ देर के बाद मेरा लंड फिर से खड़ा हो गया। फिर में कुर्सी पर बैठ गया और अपने लंड पर तेल की मालिश करवाने लगा। फिर कुछ देर के बाद मैंने दोस्त की बहन को बेड पर सीधा लेटा दिया और अपना लंड उसकी चूत में डालने लगा, उसकी चूत बहुत टाईट थी। फिर जब मैंने थोड़ा सा अपना लंड उसकी चूत में डाला, तो उसने ज़ोर से दर्द की वजह से चिल्लाना शुरू कर दिया, लेकिन मैंने अपना काम जारी रखा और धीरे-धीरे अपना पूरा लंड आगे की तरफ करता रहा। अब उसकी चूत से खून निकल चुका था, अब उसका दर्द कुछ कम हो गया था तो उसने कहा कि अनीश और ज़ोर से करो। फिर मैंने अपनी स्पीड बढ़ा दी और उसके मुँह से उईईईई, आआअ हाईईई की आवाज़ आने लगी। ये चुदाई आप नीऊ चुदाई की कहानी डॉट कॉम पर पड़ रहे है।फिर में आकर कुर्सी पर बैठ गया और उससे कहा कि वो मेरे लंड पर आकर बैठ जाए, तो उसने ऐसा ही किया और इस तरह करने से मेरा पूरा लंड उसकी चूत में चला गया। अब उजमा को भी मज़ा आने लगा था और वो भी ज़ोर-ज़ोर से चुदवा रही थी। फिर 10 मिनट तक उसको ऐसे ही चोदने के बाद मैंने उसको दूसरी स्टाइल में चोदा। अब जब में ख़त्म होने लगा तो मैंने अपना लंड बाहर निकालकर उसके मुँह में दे दिया और वो मेरा सारा वीर्य पी गई। अब अभी तक अहमद नहीं आया था, तो में उसको कल आने का कहकर चला गया। फिर इसके बाद जब भी मुझे कोई मौका मिलता तो में उजमा को चोदता, लेकिन एक दिन उजमा के मामा की बेटी हेमा को पता चल गया, तो उजमा ने मुझे हेमा को भी चोदने के लिए कहा। फिर मैंने हेमा, उजमा और उनकी नौकरानी जो कि अभी 21 साल की थी, उन तीनों को एक साथ चोदा और उन तीनों के खूब मजे लिए ।।कैसी लगी मेरी सेक्स कहानी , अच्छा लगी तो जरूर रेट करें और शेयर भी करे ,अगर कोई मेरी दोस्त की बहन की चुदाई करना चाहते हैं तो उसे ऐड करो लंड की प्यासी लड़की

1 comments:

loading...

चुदाई कहानी,Sex kahaniya,chudai kahani,mom ki chudai,didi ki chudai

Delicious Digg Facebook Favorites More Stumbleupon Twitter