अजनबी आंटी के साथ चुदाई की दास्तान

ये बस में चुदाई उस समय की है, जब मैं बैंगलोर जा रहा था हैदराबाद से. उस समय फेस्टिवल टाइम था, तो मुझे टिकेट नहीं मिला और जब मैं टिकेट काउंटर पर गया और मैंने मेनेजर से रिक्वेस्ट की, कि मेरा बैंगलोर जाना बहुत जरुरी है और जब मैंने उसे डबल कॉस्ट देने का ऑफर दिया, तो उसने मुझे एक सीट दे दी.मुझे दरवाजे से घुसते ही सीट मिली और थकान होने के कारण, मैं जल्दी ही सो गया. आधे घंटे बाद, किसी ने मुझे जगाया और मुझे मेरी टाँगे फोल्ड करने के लिए कहा. मैंने अपनी आँखे खोली, तो मेरी आँखे एकदम से चौड़ी हो गयी. क्या बला की खुबसुरत थी! बहुत ही कामुक, बिलकुल किसी काम की देवी की तरह. वो मेरे बराबर वाली सीट पर आकर बैठ गयी और फिर उसने मुझसे पूछा, कि बस डिनर के लिए कहाँ पर रुकेगी?



मैंने कहा – मुझे नहीं मालूम. थोड़ी देर बातो के बाद, हमने अपने को इंट्रोडीयूज़ किया. उसने बताया, कि उसकी ३ साल पहले ही शादी हुई है. उसका पति हैदराबाद में काम करता है और वो बैंगलोर में रहती है.जब डिनर के लिए बस रुकी, तो उसने मुझे भी डिनर के लिए इनविट किया. मैंने उसको कहा – नो थैंक्स. वो डिनर करके वापस बस में बैठ गयी. वो अपने साथ कोल्ड ड्रिंक लायी थी. उसने मुझे कोल्डड्रिंक ऑफर की. मैंने मना कर दिया. रात काफी हो चुकी थी और हम दोनों सो गये. मुझे पता नहीं चला, कि मेरा हाथ कब उसकी सीट पर चले गया. कुछ देर बाद, मेरी आँख खुली. तो देखा, कि वो मेरा हाथ दबा रही थी. मैंने तुरंत अपना हाथ खीचा और उसको सॉरी बोला. हम लोग फिर से सो गये. ये कहानी आप नीऊ चुदाई की कहानी डॉट कॉम पर पड़ रहे है।
अचानक से वो मेरे कंधे पर सिर रख कर सो गयी. मैंने उसका सिर नहीं हटाया और ना ही कोई ऑब्जेक्ट किया. जब हम उठे और उसने देखा, तो उसने मुझे सॉरी बोला. मैंने कहा – इट्स ओके. उसके बाद, उसने मुझसे पूछा, कि मैं कहाँ रहता हु. मैंने कहा – बी टी एम्. फिर मैंने उससे पूछा, तो उसने बताया, कि वो माराथली में रहती है. फिर हमने अपनी प्रोफेशन के बारे में डिस्कस किया. वो भी एक एम्एनसी में काम करती थी. बस रुकने पर और अपने – पाने स्टॉप पर जाने से पहले, हमने अपने नंबर एक्सचेंज किये.
एकदिन, उसने मुझे मेसेज किया..
शी – हेलो…
मैं – हाई…
शी – हाउ आर यू?
मैं – गुड, अबाउट यू…
फिर हम लोगो में कुछ इधर – उधर की बाते होती रही और उसने मुझसे आने वाले वीकेंड का प्रोग्राम पूछा. मैंने कहा – कुछ नहीं. बस दोस्तों के साथ वीकेंड पार्टी का प्रोग्राम है. मैंने उसको पूछा – क्यों? उसने कहा – कुछ नहीं. बस सोचा, अगर तुम्हारा कोई प्रोग्राम नहीं है. तो कहीं मिलते है. मैंने कहा – कोई बात नहीं. दोस्तों के साथ प्रोग्राम कुछ खास नहीं है. हम मिलते है. फिर मैंने उसको जगह का नाम बताया और कहा – मैं तुमको वहांसे ले लूँगा. मैंने उसको मूवी के लिए पूछा. तो उसने मना कर दिया. फिर हमने साथ कहीं बाहर जाने का प्रोगाम बनाया.

मेरे पास वेरना कार है. मैंने उसको पिक किया और फिर हम लॉन्ग ड्राइव पर निकल गया. हाईवे पर हम पोलिस ने रोक लिया और हम दोनों के बारे में पूछने लगे. उसने कहा – कि मैं उसका हस्बैंड हु. मैं तो बस उसकी तरफ देखता ही रह गया. हमने काफी फन किया और मस्ती की. हम दोनों अब अच्छे दोस्त बनने लगे थे. हम अक्सर चैट करते, या फ़ोन पर बात करते और हम हफ्ते में एक बार अब मिलने भी लगे थे.एक दिन उसने मुझे अपने घर पर इनविट किया. मैंने कहा – नो नीड… व्हाई? उसने कहा – डोंट वोर्री, तुम मेरे अच्छे दोस्त हो. कोई प्रॉब्लम नहीं है. मैं तैयार हुआ और कार से उसके घर पंहुचा. मैंने उसके घर पहुच कर डोरबेल बजायी और जब उसने दरवाजा खोला, ये कहानी आप नीऊ चुदाई की कहानी डॉट कॉम पर पड़ रहे है।
तो मैं उसे देखता ही रह गया.उसने एक ट्रांसपेरेंट ब्लू साड़ी पहनी हुई थी. उसने मुझे अन्दर आने को कहा. मैं उसके ड्राइंगरूम में जाकर सोफे पर बैठ गया. उसने कहा – मुझे आधा घंटा दो, मैं लंच बना लेती हु. मैंने कहा – ओके. मेरे दिमाग में कुछ गलत नहीं था. मैं थका हुआ था, तो मैं एक रूम में चले गया और वहां सो गया. उसने कुछ देर बाद, मुझे आवाज़, लेकिन मैं गहरी नीद में होने के कारण नहीं सुनी. वो मुझे देखने की लिए रूम में आ गयी और पूछा – क्या हुआ? मैंने कहा – मैं थोडा थका हुआ था. इसलिए आँख लग गयी. फिर उसने कहा – कोई बात नहीं. अभी बहुत टाइम है? ये सुनकर मुझे थोडा डाउट हुआ. लेकिन, मैंने अपने एक्सप्रेशन को फेस पर आने नहीं दिया. फिर उसने कहा, चलो पहले लंच कर लेते है. फिर तुम्हारे लिए एक सरप्राइज है.

हम लोगो ने साथ लंच किया और मैंने उसको पूछा – व्हाट थे स्पेशल? उसने कहा – आज उसका बर्थडे है. मैं उसको कहा – इडियट, तुमने पहले क्यों नहीं बताया? उसने कहा – आज मैं तुम्हारे साथ पूरा दिन बिताना चाहती हु. फिर, बातो के दौरान; हम लोग ने सेक्स की बात भी शुरू कर दी और उसने बताया, कि वो जब भी उसके पति के पास जाती है या वो यहाँ आती है. तभी वो सेक्स कर पाती है. उसने बोला – कि वो मुझे बहुत पसंद करती है और अपने सपने में देखती है. फिर उसने मेरा हाथ पकड़ा और मुझे एक रूम में ले गयी. वो रूम बहुत डेकोरेट था, बहुत सुंदर सजा था. ये कहानी आप नीऊ चुदाई की कहानी डॉट कॉम पर पड़ रहे है।
मैं बहुत खुश था और जब मैंने उसकी चमकती हुई आँखों में देखा, तो उसने मुझे एकदम से पकड़ लिया और टाइट हग कर दिया. वो मुझे बोली – आई लव यू. यू आर माय हस्बैंड फ्रॉम टुडे.मैंने उसको पूछा – क्या हुआ? उसने बहुत बैचेन होकर कहा – प्लीज आज मुझे सैटइसफाई कर दो आज. उसने मुझे बेड पर पुश किया और मुझे गिरा दिया. उसने मेरे होठो पर अपने होठ रख दिए और लिप लॉक कर दिया. मेरे अपने आप से कण्ट्रोल छुट गया और मैंने भी उसका चेहरा पकड़ा और उसको बहुत जोर से किस करने लगा. हम दोनों एक दुसरे में खोये हुए, एक दुसरे को किस कर रहे थे और फिर अचानक से उसने मेरे कपड़े खोल दिए और अपने कपड़े भी उतार दिए. अब मैं सिर्फ अंडरवियर में था और वो ब्रा और पेंटी में. उसके बूब्स को देख कर मेरी आँखे फटी की फटी रह गयी. मेरे मुह से एकदम निकला – वाओ.. और मैंने अपने हाथ उसके बूब्स पर रख दिए और मस्ती में मसलने लगा. फिर, मैंने अपना मुह उसके निप्पल पर लगा दिया. उसके मुह से अब सिस्कारिया निकलने लगी थी आआआआआ आआअह्हह्हह्ह …

वो बहुत बैचेन हो गयी और बोली रही थी. अब मुझे चोदो प्लीज.. उसने मेरे अंडरवियर को उतार दिया और मेरा लंड बाहर निकाल लिया. वो एकदम से चौक गयी, मेरे ६ इंच के लंड को देख कर और उसकी आँखों में चमक भी आ गयी. आंटी ने मेरे लंड को अपने मुह में रख लिया और चूसने लगी. मुझे नहीं मालूम था, कि वो इतनी मस्त ब्लोजॉब देती है. फिर उसने धक्का मारा और मेरे ऊपर चढ़ गयी. आंटी ने अपने हाथ से मेरे लंड को अपनी चूत पर टिकाया और धम्म से मेरे ऊपर बैठ गयी और मेरे ऊपर उछलने लगी. मेरे लंड में दर्द हो रहा था, लेकिन मज़ा भी आ रहा था. उसने मुझे करीब ३० मिनट तक राइड किया और फिर मैंने अपना पानी छोड़ दिया. फिर वो मेरे लंड से उठकर मेरे मुह पर आ गयी और मैं मस्त उसकी चूत को चाटा और उसने अपना पानी मेरे मुह पर छोड़ दिया.उसके बाद हम दोनों कुछ देर ऐसे ही लेटे रहे. कुछ देर बाद, उसने कहा – मैं डिनर बना लेती हु. जब वो किचन में डिनर बना रही थी. मैं उसके पीछे गया और उसकी बेक पर किस करने लगा. उसने कहा – प्लीज रात को. अभी काम करने दो. ये कहानी आप नीऊ चुदाई की कहानी डॉट कॉम पर पड़ रहे है।
मैं उसकी बात मान कर रूम में वापस आ गया. फिर जब वो रूम में आई, तो मैंने एक भी मिनट वेस्ट नहीं किया और उसको मस्त चोदा. फिर हम साथ में सो गये. जब हम सुबह उठे, तो हमने एक बार फिर से चुदाई की और फिर मैं ब्रेकफास्ट करके घर वापस आ गया. उसके बाद, हमने कई बार और सेक्स किया. कुछ महीनो बाद, उसे भी एक नई जॉब हैदराबाद में मिल गयी और वो अपने पति के साथ शिफ्ट हो गयी. मैं आज भी उसे मिस करता हु.कैसी लगी आंटी की चुदाई स्टोरी , रिप्लाइ जररूर करना , अगर कोई आंटी की चूत की चुदाई करना चाहते हैं तो उसे अब जोड़ना Facebook.com/GeetaSharma

1 comments:

Bookmark Us

Delicious Digg Facebook Favorites More Stumbleupon Twitter